ओडिशा में भाजपा नेता की हत्या, कानून मंत्री सहित 13 के खिलाफ केस दर्ज - AIPA NEWS

आईपा ब्रेकिंग न्यूज़

उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश

उत्तर प्रदेश न्यूज़ उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में चल रहा है जैसे औरैया,इटावा,कन्नौज,कानपूर देहात,कानपुर नगर,उन्नाव,लखनऊ,आगरा,शिकोहाबाद,टूंडला,फिरोजाबाद,आजमगण,जालौन,फतेहपुर,रायबरेली,काशगंज,फरुखाबाद,जशवन्तनगर,गाजियाबाद,बिन्दकी,

Music

Responsive Ads Here

Whatsapp

http://wa.me/+919058832838

WELCOME (AIPA)

आल इंडिया प्रेस एसोसिएसन में आपका स्वागत है जिसके रास्ट्रीय अध्यक्ष आदित्यशर्मा व् अनुराग सिंह है आईपा संगठन मे जुडने के लिये संपर्क करें मोब 9058832838,8318557393 मेल-aiptnews@gmail.com बेबसाइट-aipa.org.in

Monday, January 4, 2021

ओडिशा में भाजपा नेता की हत्या, कानून मंत्री सहित 13 के खिलाफ केस दर्ज

ऑल इंडिया प्रेस एसोसिएशन AIPA

शनिवार को ओडिशा के कटक जिले में मंडल प्रभारी 75 वर्षीय कुलमणि बराल अपने 80 वर्षीय सहयोगी दिव्य सिंह बराल के साथ मोटरसाइकिल से घर की ओर लौट रहे थे। बीच रास्ते में ही अपराधियों ने घात लगाकर दोनों की हत्या कर दी। इससे दोनों के चेहरे और छाती पर गंभीर चोटें आई थी।

ओडिशा के कटक जिले में हुई भाजपा नेता के हत्या के मामले में पुलिस ने राज्य के कानून मंत्री प्रताप जेना सहित 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बीते शनिवार को भाजपा नेता कुलमणि बराल और उनके सहयोगी दिव्य सिंह बराल की हत्या कर दी गयी थी। कुलमणि बराल की हत्या के बाद भाजपा ने सत्तारुढ़ बीजू जनता दल पर प्रतिशोध की राजनीति करने का आरोप लगाया था और कहा था कि बीजेडी भी तृणमूल कांग्रेस की तरह हो गयी है।

शनिवार को ओडिशा के कटक जिले में मंडल प्रभारी 75 वर्षीय कुलमणि बराल अपने 80 वर्षीय सहयोगी दिव्य सिंह बराल के साथ मोटरसाइकिल से घर की ओर लौट रहे थे। बीच रास्ते में ही अपराधियों ने घात लगाकर दोनों की हत्या कर दी। इससे दोनों के चेहरे और छाती पर गंभीर चोटें आई थी। जिससे कुलमणि बराल ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था वहीँ दिव्य सिंह की मौत इलाज के दौरान कटक के अस्पताल में हो गयी थी।अपने नेता की हत्या से नाराज़ भाजपा ने बीजेडी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि जो काम ममता बनर्जी बंगाल में कर रही है वही काम ओडिशा में नवीन पटनायक की सरकार कर रही है। भाजपा ने इस मामले राज्य के कानून मंत्री को अभियुक्त बनाये जाने पर कहा कि उनको तुरंत ही सरकार से बर्खास्त किया जाना चाहिए। वहीँ केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी इस हत्या की निंदा की थी।

कुलमणि बराल के बेटे रमाकांत ने 13 लोगों के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज करते हुए कहा कि उनके पिता कटक जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना में हो रही धांधली के खिलाफ आवाज उठा रहे थे। जिसकी वजह से उनके जान का खतरा बना हुआ था। उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में भी की थी लेकिन कोई भी एक्शन नहीं लिया गया। साथ ही रमांकांत ने यह भी बताया कि उन्होंने जिन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है वे लोग ही 2018 दिसंबर में हुए बीजेपी नेता विकास जेना की हत्या के साजिशकर्ता थे। लेकिन इसके बावजूद भी पुलिस की तरफ से कोई कारवाई नहीं की गयी। अगर समय रहते कारवाई की जाती तो मेरे पिता बच जाते।हालाँकि कानून मंत्री प्रताप जेना ने अपने खिलाफ लगे सभी आरोपों को निराधार और बेबुनियाद बताया है और कहा है कि वह इसकी जांच कराएँगे और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कारवाई करेंगे। कटक ग्रामीण एसपी ने कहा है कि इस मामले की जाँच के लिए छह टीम बनाई गयी है।

No comments:

Post a Comment

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();

Post Top Ad

Responsive Ads Here